Sunday 23 June 2024 4:06 AM
Samajhitexpress

डिविजन 222 के अंतर्गत मियांवाली पार्क में साप्ताहिक एकत्रीकरण अभ्यास के दौरान आग आपदा के गुर सिखाये गए  

दिल्ली समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगांवलिया) l  दिल्ली नागरिक सुरक्षा (पश्चिमी जिला) के आदेशानुसार साप्ताहिक एकत्रीकरण अभ्यास (Weekly Mustering Exercise) रविवार दिनांक 06-11-2022 को समय सुबह 8 बजे से 10 बजे तक डिविजन 222 के अंतर्गत  मियांवाली पार्क में कराई गई, इस एकत्रीकरण अभ्यास में डिवीजन के सभी स्वयंसेवकों ने भाग लिया l यह एकत्रीकरण अभ्यास डिविजनल वार्डन रघुबीर सिंह गाड़ेगांवलिया के नेतृत्व में किया गया l

डिविजनल वार्डन रघुबीर सिंह गाड़ेगांवलिया ने सभी सदस्यों को बताया कि रोजमर्रा के जीवन में आपदा कभी भी आ सकती है, उस समय हम खुद को सुरक्षित रखते हुए दुसरे का बचाव करें यही सिविल डिफेन्स वालंटियर्स का कार्य है l आग की आपदा के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि आग कहीं पर भी लग सकती है, लेकिन आग लगने के लिए ओक्सीजन+ईंधन+ऊष्मा इन तीनो का एक स्थान पर होना जरुरी होता है, इनमे से एक भी आइटम नहीं होगा तो आग नहीं लगेगी, ये आप सभी को याद रखनी चाहिए l एक बार अग्नि अपनी पकड़ बना ले तो इसको नियन्त्रित करना आसान नहीं होता । आग के अनियन्त्रित रूप को ‘आग लगना’ या अग्निकाण्ड कहा जाता है । आग लगने के प्रमुख कारण में सर्वप्रथम मानवीय लापरवाही, बिजली के दोषपूर्ण उपकरण व फिटिंग, ज्वलनशील पदार्थों के प्रति लापरवाही व कई अन्य कारण भी हो सकते है l

यदि कहीं आग लग जाए और आपको आग की सुचना मिले तो वालंटियर्स वहां पहुंचकर स्थिति का ज्याजा ले, कि आग किस प्रकार की है, तुरंत 101 नंबर पर फोन करके फायर ब्रिगेड को बुलाना चाहिए, आग बुझाने व आग में फंसे व्यक्ति को निकालने का तभी प्रयास करें जब आपका जीवन खतरे में न पड़े । बिजली के जलते हुए उपकरणों पर पानी मत डालिए, बल्कि रेत व मिट्टी डालिए । आग लगने के स्थान की विभाग से बिजली आपूर्ति बन्द करवा दें । घायल व्यक्ति को उपचार के लिए अस्पताल भेजने का प्रबन्ध करें । आग बुझने के बाद में अपनी रिपोर्ट में आग लगने के कारणों का पता लगाकर लिखें । इस दौरान जितनी एजेंसीज आई उनका वर्णन भी रिपोर्ट में करें l थोड़ी सी सावधानी बरतने से हम आग से होने वाली क्षति को कम करने तथा उसकी पुनरावृत्ति को रोक सकते है l

डिविशनल वार्डन द्वारा सभी वालंटियर्स को पीले जैकेट पहनने और क्लीन शेविंग रखने के लिए प्रेरित किया और अपने अनुशासन और समर्पण की भावना से अपनी पहचान बनाने के लिए मोटीवेट किया गया l  इसके अलावा सेक्टर वार्डन रामावतार, प्रवेश मेहरा व जिया लाल ने भी आपदा के दौरान क्या करना और क्या नहीं करना के बारे में बताया l वरिष्ठ सदस्य क्षितिज नंदा, एचएफपी सदस्य शनि कुमार, मुकेश कुमार, देवेन्द्र कुमार ने घटना स्थल पर किये गए कार्यों का वर्णन किया l

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close