Sunday 21 April 2024 8:43 PM
Samajhitexpress

हरिप्रसाद सेठिया के दो बेटो ने बिना दहेज एक रुपये का नेक लेकर शादी कर, एक अनुकरणीय मिसाल कायम की

Two sons of Hariprasad Sethia set an exemplary example by getting married without dowry.

दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगांवलिया) l  दहेज प्रथा कानूनन अपराध है, लेकिन कानून के होते हुए भी इस प्रथा प्रचलन समाज में विद्यमान है l दहेज प्रथा को सामाज से दूर करने के लिए गाँव मंढा (भांखरी) पावटा निवासी हरिप्रसाद सेठिया (सेवानिवृत) के शिक्षित दो बेटो ने बिना दहेज एक रुपया और नारियल का नेक लेकर शादी कर दुल्हन घर लाये, इन दो शादियों की घर घर सराहना हो रही है l

बदलते दौर में दहेज प्रथा एक बड़ी बुराई है । इन्हीं विचारों की जीवन में अपनाते हुए 25 जनवरी 2023 को हरिप्रसाद सेठिया के बेटे धर्मेन्द्र कुमार (ITI Polytechnic) ने खूब चन्द कुलदीप निवासी सराय नीम का थाना सीकर की सुपुत्री रंजना (B.A.) संग बिना दहेज एक रुपया और नारियल का नेक लेकर शादी रचाई l जो समाज में एक अनुकरणीय मिसाल कायम की है l

इसी प्रकार 26 जनवरी 2023 को हरिप्रसाद सेठिया के दुसरे बेटे जितेन्द्र कुमार (राजस्थान पुलिस में कार्यरत) ने रमेश गाड़ेगांवलिया निवासी हरमाड़ा जयपुर की सुपुत्री मोनिका (M.A.,B.ed) संग बिना दहेज एक रुपया और नारियल का नेक लेकर शादी के सात फेरे लेकर एक दुसरे के जीवनसाथी बन गए l

धर्मेन्द्र कुमार और जितेन्द्र कुमार दोनों युवाओ ने कहा कि समाज में शादियों में दहेज की कामना रखने वालों को संदेश देने के लिए हमने ये पहल की है । बहू के रूप में कन्या धन की प्राप्ति होने के बाद दहेज कोई मायने नहीं रखता । इन्हीं विचारों को जीवन में अपनाते हुए हमने दहेज जैसी कुप्रथा को बंद करते हुए बिना कोई दहेज लिए एक रुपये में शादी की है और समाज को नई दिशा देने का काम किया है । हमारी समाज के उन लोगो से निवेदन है जो शादियों में दिखावे के लिए फिजूलखर्ची करते हैं, उन्हें भी फिजूलखर्ची रोकने का निर्णय लेना चाहिए ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close