Wednesday 12 June 2024 9:52 PM
Samajhitexpressजयपुरताजा खबरेंनई दिल्लीराजस्थान

फागी में स्वर्गीय श्री सुवा लाल गुसाईंवाल के निधन पर शनिवार को आयोजित शोक सभा संपन्न

दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगांवलिया) l समाजसेवी डॉ नवरत्न गुसाईंवाल के पिता स्वर्गीय श्री सुवा लाल गुसाईंवाल (बैंक वाले) का 71 वर्ष की उम्र में अक्टूबर 2023 को आकस्मिक निधन होने पर शनिवार 18 नवम्बर 2023 को पीताम्बर कॉलोनी, रैगरों का मोहल्ला, फागी गाँव में शोक सभा का कार्यक्रम संपन्न हुआ । परिवार में दो पुत्र और तीन पुत्रियाँ है सभी विवाहित है पोते पोतियाँ और दोयते दोयातियाँ का सम्पन्न परिवार है l

शोक सभा में मुख्य तौर पर केन्द्रीय मंत्री रामदास आठवले और अखिल भारतीय रैगर महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.एल.नवल, समाजहित एक्सप्रेस के संपादक रघुबीर सिंह गाड़ेगांवलिया व रघुवंशी पत्रिका के पत्रकार मुकेश गाड़ेगांवलिया भी उपस्थित हुए । शोक सभा में भारी संख्या में विद्वानों और बुद्धिजीवी लोगों ने दिवंगत सुवा लाल गुसाईंवाल (बैंक वाले) के चित्र पर पुष्प अर्पित कर शोक प्रकट करते हुए 2 मिनट का मौन धारण कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई l

आज विज्ञान भले ही कितनी ही उपलब्धियां हासिल कर चुका है, लेकिन प्रकृति के नियम के साथ छेड़छाड़ नहीं की जा सकती । संसार में कोई ऐसी वस्तु, पदार्थ या पुरानी जीवात्मा नहीं है जिस पर यह नियम लागू ना होता हो । सृष्टि भी परिवर्तन के अटल नियमों से बंधी हुई है । इस नियम के सामने ना किसी सत्ताधारी की ताकत चली, ना किसी वैज्ञानिक का विज्ञान और ना ही किसी डॉक्टर की दवा । दवा बीमारी का इलाज करती है मृत्यु का नहीं । प्रकृति के अटल सत्य इस नियम के आगे ना कोई तिजोरी, ना कोई सिफारिश काम आती है ।

श्री सुवा लाल गुसाईंवाल (बैंक वाले) के निधन पर फागी में आयोजित शोक सभा में मंत्री, विद्धवान और बुद्धिजीवियों सहित गणमान्य लोगो ने उपस्थित होकर दिवंगत सुवा लाल गुसाईंवाल (बैंक वाले) के चित्र पर पुष्प अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी l इस अवसर पर दिवंगत सुवा लाल गुसाईंवाल के जीवन संघर्ष, व्यक्तित्व व समाज के लिए उनके अविस्मरणीय योगदान को याद किया गया l

केन्द्रीय मंत्री रामदास आठवले ने इस अवसर पर दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि दिवंगत सुवा लाल गुसाईंवाल (बैंक वाले) एक असाधारण व्यक्ति थे, उनमें बहुत ही विनम्रता और शिष्टाचार था, उनका पूरा जीवन समाज के लोगो की सेवा में व्यतीत हुआ l हम सब ईश्वर से प्रार्थना करते है कि शोक संतप्त परिजनों को विपदा सहन करने की शक्ति प्रदान करें ।  

अखिल भारतीय रैगर महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.एल.नवल ने कहा कि दिवंगत सुवा लाल गुसाईंवाल (बैंक वाले) कर्मठ समाजसेवी, मिलनसार व दयालु व्यक्तित्व का स्वामी थे । उन्होंने आगे कहा उनका जाना समाज‎ की अपूरणीय क्षति है । इसकी कभी भरपाई नहीं हो सकती । वह अपने साथ अपनी अच्छी कमाई लेकर गए और सत्संग, सिमरन, सद्भावना और समाजसेवा की अच्छी प्रेरणा परिवार के लिए छोड़ कर गए । जिसे डॉ नवरत्न गुसाईंवाल व ज्ञान प्रकाश गुसाईंवाल उनके पदचिन्हों पर चल रहे है । आज दिवंगत सुवा लाल गुसाईंवाल शारीरिक रूप से हमारे बीच नहीं है लेकिन उनके विचार और व्यक्तित्व हमारे बीच मौजूद है l हम सब ईश्वर से प्रार्थना करते है कि दिवंगत आत्मा को अपने शरण में लेकर शांति प्रदान करे और शोक संतप्त परिजनों को विपदा सहन करने की शक्ति प्रदान करें । 

आयोजित शोक सभा में भावुक होते हुए उनके ज्येष्ठ पुत्र डॉ नवरत्न गुसाईंवाल ने समाजहित एक्सप्रेस को बताया कि हमने पापा को परिवार का आदर्श मार्गदर्शक खोया दिया है जिसके कारण पूरा परिवार व्यथित है l पापा परिवार में अपने बच्चों से बड़ी करुणा और प्रेम के साथ मिलते थे और विपरीत परिस्थितियों में बिल्कुल भी घबराते नहीं थे l उनका पूरा जीवन संघर्षों से भरा था, अगर वे हमें किसी विषय के बारे में सलाह देते थे तो उनका अंदाज़ बहुत सामान्य होता था l उनका हमारे जीवन में दिया गया अविस्मरणीय योगदान हमें सदा याद रहेगा l

इस मौके पर ABRM के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी एल नवल, रघुबीर सिंह गाड़ेगांवलिया, रविकांत, डॉ राधाकृषण, दिलीप सिंह (मणिपुर), बालेश्वर (असम), राजेन्द्र शर्मा,एस एस धनखड़ सीकर, राजा राम गोदारा,सूरज मीणा, गजेंद्र अखरिया, मदन लाल जोलिया, आर एस बृजमोहन नोगिया, दामोदर मंडावरिया, आरपीआई राधा मोहन सैनी, नितिन शर्मा, नरसिंह पटेल, सुरेंद्र सिंह, नंद किशोर, केशर लाल, रिद्धि करण, मदन लाल जाजोरिया, मुकेश गाड़ेगांवलिया, राजेंद्र सबल, नानू लाल खातुमारिया,महेश कुमार, अर्जुनलाल, रामावतार, कालू राम, नाथू राम, गोपाल, सीता राम, विकास,धन्ना लाल, अम्बा लाल, कैलाश नोगिया,राजेंद्र सबलानिया, विद्या देवी, कौशल्या, प्रेमवती, शांतिदेवी, संजया,कोयली देवी, शारदा देवी, ममता देवी,शिमला देवी,अनोखी देवी, मथुरा देवी, गंगा देवी, सीता देवी, मंजू देवी,संतोष देवी समेत भारी संख्या में सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक व विभिन्न संगठनो के गणमान्य लोग मौजूद रहे ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close