Sunday 21 April 2024 9:09 PM
Samajhitexpressताजा खबरेंमध्य प्रदेश

गोपाल किरन समाजसेवी संस्था का ग्लोबल कॉन्क्लेव व अचीवर्स अवार्ड कार्यक्रम अहमदाबाद में सम्पन्न

दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगांवलिया) l गोपाल किरण समाज सेवा संस्था ग्वालियर द्वारा छठा ग्लोबल कॉन्क्लेव और डॉ. भीमराव आंबेडकर अचीवर्स अवार्ड का आयोजन अहमदाबाद मैनेजमेंट एसोसियशन के सभागृह में आयोजित किया गया । जिसमे मुख्य अतिथि उदयपुर से कैलाश चन्द्र मीणा (DFO) शामिल हुए जो कि संस्था के संरक्षक भी है l कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलन के बाद भारतीय संविधान की उद्देशिका का वाचन कराया गया तथा अतिथियों के स्वागत किया गया । कार्यक्रम के दौरान सभी को डॉ. बी. आर. अंबेडकर ग्लोबल अचीवर्स अवार्ड से नवाजा गया । कार्यक्रम का संचालन मुक्ता सिकरवार ग्वालियर, ने किया l श्रीमती संतोष मीणा, सामाजिक वरिष्ठ समाजसेवी उदयपुर व श्री कैलाश चन्द्र मीणा जी का सम्मान किया गया ।

मुख्य अतिथि कैलाश चन्द्र मीणा ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि हमें निष्ठापूर्वक अपने कार्यो को करना चाहिए ताकि एक नई शुरुआत हो सके, सदैव सकारात्मक सोच रखें। संविधान दिवस का महत्व समझाते हुये कहा कि समता,स्वतंत्रता बंधुत्व,न्याय पर आधारित भारतीय समाज बनाये जाने के लिए संविधान को पवित्र ग्रंथ मानकर उस पर लोगों को चलना होंगा ।

मीणा ने आगे कहा है कोइ भी शहर, राज्य या देश उस क्षेत्र की विभूतियों व क्षमतावान नवरत्नों के योगदान व आधार पर ही महान बनता है और उनकी मेहनत ओर क्षमता की आधार पर ही वे सम्मान के अधिकारी बनते है । आज जिनको सम्मान मिल रहा वे देश के हीरो व हीरे हैं । समाज के असंख्य हीरों को हीरे की तरह ढूंढ निकालने व सम्मानित करने के लिए गोपाल किरन संस्था बधाई की पात्र है । गोपाल किरन संस्था ने इसकी शुरुआत वर्ष 2018 मैं की थी ।

गृह मंत्रालय भारत सरकार नई दिल्ली से पधारे ओमप्रकाश अहिरवार ने देश के नागरिंकों से अपील की है कि अपने अधिकारों की जानकारी प्राप्त करने संविधान को अपने घर जगह देनी होगी। श्री कटक उड़ीसा से पधारे डॉ. मोहम्मद ओसामा ने कहा संविधान में प्राप्त अधिकारों से लोगों को न्याय की उम्मीद बनी रहती है। संविधान अच्छा नही होता तो देश में अराजकता फैल गई होती। उन्होंने जीवन जीने के मूल मंत्र पर चर्चा की। उन्होंने तीन मूलमंत्र भी बताए कि हमें स्वंय को पहचानना होगा।स्वयं को स्वीकार करना होगा और दूसरो को भी बिना शर्त स्वीकार करना होगा। जिससे हम सब स्वस्थ्य रहे ।

वरिष्ठ समाजसेवी संतोष मीणा उदयपुर ने कहा कि जिन महिलाओं को  रोजगार के अवसर नहीँ है उनके लिए आगे आना होगा। महिलाओं के विकास मैं डॉ. अम्बेडकर का महत्वपूर्ण योगदान है।हम समता, समानता, बंधुत्व,समता आधारित न्याय समाज मे स्थापित कर देश क़ो एक सूत्र मे बंधे । महिला मजबूत – समाज मजबूत, महिला विरोधी मान्यताएं और मानसिकता बहुत सी समस्याओ को जन्म देती है, जो समाज विकास मे तो रूकावट बनती है । बल्कि राष्ट्र के विकास मे भी बहुत बडी बाधा के रूप मे सामने आती है । समाज मे बराबरी का दर्जा मिले इसके लिए महिला सशक्तिकरण जरूरी है । महिलाओ को पारिवारिक जिम्मेदारी को निभाते हुए हर क्षेत्र मे जागरूकता के साथ सकारात्मक भुमिका निभानी चाहिए । महिलाओ के सशक्त होने से आज पुरा समाज अपने आप सशक्त हो सकता है ।

अहमदाबाद साहित्य अकादमी के डॉ. सुनील कुमार जैन ने सभी नवाचारी शिक्षकों को आभार व्यक्त किया जिन्होने समाजहित मे कार्य किया । संविधान कैसा बनाया गया इस पर भी प्रकाश डाला। लोक शिक्षण संचलानलय भोपाल के विषय विशेषज्ञ डॉ वी.के. सिह चौरसिया ने अपने उद्बोधन में कहा कि शिक्षा एक ऐसा मंन्त्र है जो समाज के अन्धकार को दूर करता है। शिक्षक राष्ट्र निर्माता है। हम सबको सविधान के दिशा निर्देशों के अनुसार कार्य करना चाहिए । खेमपाल सिंह, पीलीभीत, दौलतराम कश्यप छत्तीसगढ़,ऋतेश पंवार आदि ने अपने विचार रखे ।

6वा  ग्लोबल कॉन्क्लेव अचीवर्स अवार्ड का आयोजन किया गया। उक्त एक दिवसीय राष्ट्रीय परिचर्चा कार्यक्रम में पूरे देश से 17 जनपदों और 18 प्रान्तों से 100 से अधिक बहु-प्रतिभाशाली शिक्षकों, समाजसेवको एवं साहित्यकारों को शिक्षा, साहित्य,कला, संस्कृति, आजीविका, प्राकृतिक संसाधनों पर आधारित नवाचार करने वाले विभूतियों का “ग्लोबल कॉन्क्लेव और डॉ. भीमराव आंबेडकर  अचीवर्स अवार्ड-2022” से सम्मानित किया गया l

उद्घाटन सत्र के पश्चात देश के विभिन्न प्रान्तों से आये प्रतिभाशाली विद्वानों का परिचय श्रीमती मुक्ता सिकरवार द्वारा करवाया गया। स्वागत गीत गोपाल किरण समाज सेवा संस्था की सचिव श्रीमती जहाँआरा ने किया l सत्र के मध्य में सभी ने वर्तमान में शिक्षण में आने वाली चुनौती शिक्षकों की समस्याओं एवं उनके समाधान पर परिचर्चा के माध्यम से एक दूसरे के विचारों को सुना।और उस पर के प्रकोष्ठ बनाकर उनका समुचित रूप से निवारण करने हेतु कृत संकल्प किया। एक राष्ट्रीय स्तर पर शिक्षक प्रकोष्ठ की घोषणा की गई।

कार्यक्रम में डॉ. गुलाब चंद पटेल, गुजरात, श्याम सिंह राठौर, ग्वालियर,जेनेट बेन व्ही सोलंकी अहमदाबाद, जयसुखभाई लालजीभाई जीकादरा, गुजरात, सुनीता श्रीवास्तव, सुल्तानपुर अर्चना रानी,जौनपुर, तेजेन्द्र कुमार ब्रह्मभट्ट, पाटन, रमेश सिंह बिष्ट, व्याख्याता,नैनीताल, डॉ. शोभनाथ दास, बिहार, जाहिद भाई रहीमतुल्ला, डॉ. व्ही. के. सिंह चौरसिया, भोपाल,. प्रतिभा भट्ट,श्रीमती कल्पना शाह, रामपुरा, मध्यप्रदेश,कान्ति रायबरेली, श्रीमति शिप्रा सिंह, सुल्तानपुर, सुनील कुमार सिंह, सुल्तान पुर,.राजेशसिंह उत्तर प्रदेश, डो़ प्रदीपसिंह सिंघा, गुजरात, डॉ.शेलश व्ही.ब्रह्मभट्ट, खण्डवा, मध्यप्रदेश,.डॉ. चेतना जोशी, जानकी सन्नी कुमार पटेल, अहमदाबाद, गुजरात, सुरेश भाई ए च पटेल. सुरेशभाई लुणावाडा,महासागर,गुजरात, सुरेशभाई बाबुभाई धोरिया, गुजरात,सरोजबाला अहिरवार, बागपत,किरन सिंह बदुभाई चावड़ा  गुजरात,ममताश्रीवास्तव, जौनपुर, दिप्तीबहन धीरजकुमार जोषी, (गुजरात),.श्रीमति कमला सिंह, सुल्तानपुर,.डॉ. विलाश अम्बादास सालुंके, रमेश कुमार चौरसिया, बस्ती, विनय कुमार, सीमा श्रीवास्तव, सुल्तानपुर, नीलम मन्ध्यान, अयोधया, डॉ दमयंतीबा  प्रदीपसिंह सिंघा, राजपीपला, गुजरात, डॉ. मुक्ता सिकरवार, ग्वालियर,विनोद कुमार सीताराम दुबे मुंबई महाराष्ट्र, राजकुमार रामलखन यादव, महाराष्ट्र, वाघेला वर्षा बहन बी, गुजरात, दौलत राम कश्यप, छत्तीसगढ़, अमित भूपेंद्र कुमार दवे,कड़ी, मेहसाणा, एकताकुमारी अनिलभाई भट्ट,नागला सुरेश कुमार धन्नाजी भाई,मोहन सिंह,निरीक्षक,रेडियो पुलिस मुख्यालय ,भोपाल, ओ. पी. अहिरवार,गृह मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली जो किन्हीं विशेष कारण से नहीं आ सके उन तक उनके मोमेंटो और सर्टिफिकेट पहुचाने की व्यवस्था कराई जायेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close