Wednesday 19 June 2024 7:06 AM
उत्तर प्रदेशउत्तराखंडगुजरातछत्तीसगढ़जम्मू और कश्मीरजयपुरझारखंडताजा खबरेंदेहरादूननई दिल्लीपंजाबबिहारमध्य प्रदेशमहाराष्ट्रराजस्थानलखनऊशिक्षा

परीक्षा के समय पढ़ाई के तनाव को अपने ऊपर हावी न होने दे, योजनाबद्ध तरीके से करें परीक्षा की तैयारी

दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस  l हम सभी अपने जीवन कभी न कभी परीक्षा की चुनौती से अवश्य ही गुजरे होंगे l परीक्षा की तपिस कठोर से कठोर लोहा को भी कंपा देता है, परीक्षा का नाम सुनते ही मन में एक अजीब डर का एहसास होने लगता है, यह डर कभी कम; तो कभी ज्यादा होकर मन को तनाव में डाल देता है और परीक्षा के समय यह तनाव छात्रों अवसाद में डाल देता है l इस अवसाद के कारण छात्र पढ़ा हुआ भी भूल जाता है l इस कारण परीक्षा के दौरान अच्छे से अच्छे विद्यार्थियों को चिंतित होते हुए देखा जा सकता है l साल भर पढ़ाई करने के बाद भी कई छात्रों के औसतन कम परिणाम आते हुए देखा जा सकता है; इसका एक मात्र कारण है पढ़ाई के समय पढ़ा तो गया  गया, परन्तु समय-समय पर इसे दुहराया नहीं जाना l इस कारण से पढ़ा गया पाठ या अवधारणा का अपनी स्मृति में कुछ समय बाद धुंधलापन आ जाता है, इसे समय पर दुहराना याने अपने सीखे पाठ को पक्का करना अति आवश्यक है l परीक्षा एक ऐसा समय होता है जब साल भर की पढ़ाई एवं तैयारी को मात्र चंद घंटो में कागजों में उतार कर आपने आप को साबित करना होता है l इस समय में छात्रों को चिंतित एवं तनाव में न आकर सतर्क रहना चाहिए और योजनाबद्ध तरीकों से अपनी पढ़ाई को करना चाहिए l उन्हें अपने छोटे-छोटे लक्ष्यों बनाकर उसे हासिल करते रहना चाहिए जिससे वह अपनी पढ़ाई का पूरा लाभ ले सके l

परीक्षा की तैयारी करने के लिए कुछ बातो का ध्यान देना आवश्यक है नीचे कुछ आवश्यक एवं उपयोगी नुस्खा बताया गया है जिससे आप अपनी परीक्षा की तैयारी को और अधिक सशक्त बना सकते है :-

1. पढ़े हुए पाठ को दुहराना, रिविजन करना : हमारा मस्तिक एक ऐसा तंत्र है जिसमे ढ़ेरो स्मृति को संरक्षित किया जा सकता है, परन्तु इसका एक और गुण यह है कि यह समय के साथ पुरानी स्मृति को भुला देना l नई स्मृति को रखना एवं पुरानी स्मृति को भूलने से हमारा मस्तिक एक सुपर कंप्यूटर की तरह कार्य करता है l हमारी स्मृति को ताजा करने के लिए दुहराव बहुत ही जरुरी कार्य है इस कार्य से हम अपने सीखे गए पाठ को और अधिक एवं लम्बे समय तक याददास्त में रख पाते है l इसलिए परीक्षा के समय में कोई नया पाठ पर ज्यादा फोकस न करके पहले पढ़ा हुआ पाठ को दुहराना आवश्यक हो जाता है l

2. पढ़ाई का टाइम टेबल बनाये : पढ़ाई करना और उसमे सफल होना दोनों अलग-अलग मुद्दा है l बहुत से लोग पढ़ाई तो करते है परन्तु उसमे सफल नहीं होते है, इसलिए ऐसी पढ़ाई का कोई मूल्य नहीं होता है l पढ़ाई करने का सबसे अच्छा उपाय योजनाबद्ध तरीका से पढ़ाई करना है l पढ़ाई करने के लिए एक सरल टाइम टेबल बनाना चाहिए, और इस टाइम टेबल के अनुसार अपने विषय की तैयारी करनी चाहिए l इससे अपने सभी विषयों एवं आवश्यक जरुरी पाठ को समय दिया जा सके एवं सभी विषयों को सामान रूप से तैयार किया जा सके l

3.छोटे नोट्स बनाये : बड़ी से बड़ी अवधारणाओं को समझने के लिए उसकी एक छोटी नोट्स बनाना परीक्षा के समय पढ़ाई के लिए एक महत्वपूर्ण साधन होता है l आप जो भी पढ़ रहे है उसका एक छोटे नोट्स जरुर बनाये ताकि रिविजन के लिए ये नोट्स हमें अपनी स्मृति को ताजा करने के लिए एक कुंजी का काम करें l छोटी नोट्स बड़ी अवधारणाओं को कम समय में समझने के लिए काफी अच्छी प्रेक्टिस हो सकती है l

4.पढ़ाई में थोड़ा ब्रेक लें : परीक्षा के समय देखा गया है कि परीक्षा की तैयारी करने में छात्र ज्यादा से ज्यादा समय पढ़ाई के लिए देने लग जाते है l इस समय परीक्षार्थी के मन में होता है लगातार पढ़ाई करके सब कुछ सीखा जा सके l परन्तु लगातर पढ़ने करने के कारण आपको नीरसता आ सकते है l पढ़ाई में उचित ध्यान का केन्द्रित होना आवश्यक होता है, परन्तु लगातार पढ़ाई करने से थकान हो सकती है एवं पढ़ाई में नीरसता हो सकती है l इसलिए पढ़ाई के बीच में थोड़ा ब्रेक लेना चाहिए जिससे आपका शरीर और मन दोनों को ताजगी मिल सके और आपका मन रेफ्रेस होकर दुबारा ध्यान केन्द्रित कर पढ़ाई में मन लगा सके l ध्यान रहे कि ब्रेक में ज्यादा समय मोबाइल को देने से बचे l

5. पढ़ाई के लिए शांत जगह और उचित वातावरण : बेहतर पढ़ाई करने और उसको देर तक याद रखने के लिए सबसे साधन होता है- शांत एवं एकांत वातावरण या जगह का होना l परीक्षा के समय की पढ़ाई बहुत ही महत्ववपूर्ण होती है, यह वह समय होता है जब पढ़ाई का सारा याद किया हुआ पाठ हमारी स्मृति में होना ही चाहिए l इस समय पढ़ाई के लिए बहुत जरुरी है कि आप जहाँ पढ़ रहे हो वह स्थान पढ़ाई के लायक हो यानी उस स्थान में किसी अनावश्यक व्यवधान न हो l पढ़ाई का स्थान एकांत एवं शांत होना चाहिए जिससे कि आपकी पढ़ाई के समय कोई व्यवधान न आये; बार-बार का व्यवधान आपकी पढ़ाई में खलल डाल सकती है l आपका मन पढ़ाई से भटक सकता है l

6. पिछले सालो के प्रश्नपत्र जरुर पढ़े : परीक्षा के समय तैयारी के लिए यह बात समझनी बहुत महत्वपूर्ण हो जाती कि प्रश्नपत्र के पैटर्न को समझना l पिछले सालो के पेपर यह पेटर्न को समझने में हमारी मदद कर सकते है l साथ की प्रश्न किस प्रकार से आते है l सिलेबर्स से कितने प्रश्न सीधे एवं कितने घुमावदार आते है आदि की समझ के लिए पुराने पेपर की समझ एक महत्वपूर्ण तैयारी का हिस्सा हो सकता है l  यदि आपकी तैयारी पूरी हो गई है तो किसी एक साल का पुराना पेपर लेकर मोक प्रेक्टिस कर सकते है l इससे स्वयं का मूल्यांकन भी हो जाएगा कि हम परीक्षा के लिए कितने प्रतिशत तैयार हो पायें है l

7. अपने फ़ोन एवं इलेक्ट्रॉनिक गेजेट्स से बनाये दूरी बनाये : आज के समय में फ़ोन हमारी एक महत्वपूर्ण आवश्यकता के रूप में उभरकर सामने आया है, परन्तु पढ़ाई के समय में फ़ोन हमारी पढ़ाई में बाधा का काम कर सकता है, इसलिए पढ़ाई के समय में फ़ोन से दूरी बनाना ही सबसे सही उपाय हो सकता है l पढ़ाई के समय निर्धारित करे कि फोन को बंद रखे या उचित दूरी में रखे जिससे सहज ही हमारा ध्यान उस और न जाये l यदि आपके पास फोन है तो आप पढ़ाई के बीच में फ़ोन में उलझ सकते है l और आपका समय पढ़ाई में न होकर फ़ोन और अन्य एप्लीकेशन में जा सकता है और आपका याक महत्वपूर्ण समय बर्बाद हो सकता है, उस समय आपके लिए एक-एक क्षण कीमती होता है इसे फालतू के काम में न उलझाये l  

परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण ध्यान देने वाली बाते : पढ़ाई का दबाब सबसे ज्यादा परीक्षा के 1 दिन पहले होता है l ध्यान रखे कि यह वह समय है जो आपने पहले पढ़े है उसको और अधिक पक्का करना न कि कोई नई अवधारणा की तैयारी करना l इसलिए कोई नई अवधारणों की पढ़ाई करने की अपेक्षा, आपने जो पहले पढ़ा है उसको दुहराना ही समय का सबसे अच्छा उपयोग है l इस समय रटे नहीं बल्कि समझ बनाकर पढ़ना आवश्यक है क्योकि रटे हुए पाठ परीक्षा के समय भूल जाने का खतरा होता है, इससे बचे l आप जो भी पढ़ रहे है उसे एकदम स्पष्ट पढ़े न की आधे अधूरे ध्यान व ज्ञान के साथ l बहुत बार ऐसा होता है कि आपने सब पढ़ लिए पर याद कुछ नहीं हुआ, ऐसी पढ़ाई से बचे l

परीक्षा के समय छोटी अवधारणा एवं सरल प्रश्नों को हल करे न की बड़े प्रश्नों को l बड़े प्रश्नों को पहले हल करने का मतलब इन प्रश्नों में ज्यादा समय देना जिससे आपके छोटे प्रश्न छूटने की संभावना बढ़ जाती है l आसानी से किये जाने वाले प्रश्नों से आपको एक सकारात्मक माहौल बनाने एवं आगे के प्रश्नों को हल करने का ज्यादा मौका मिलता है l परीक्षा के एक दिन पूर्व कम से कम 6 घंटो की नींद अवश्य ले, परीक्षा के लिए स्वस्थ्य मन एवं तरोताजा दिमाग का होना अति आवश्यक है l उचित नींद आपके मन को आराम एवं तरोताजा बनाने में सहायक होगा l यदि आपने उचित नींद नहीं ली है तो परीक्षा के समय में आलस, नींद, उवासी, ऊँघना आदि आने से परीक्षा में अनावश्य व्यवधान आ सकता है l

इन बातों को ध्यान रखकर परीक्षा की तैयारी करने से विद्यार्थी को आवश्यक लाभ होगा, और अपने अच्छे परीक्षा परिणामों के लिए तैयार हो पाएंगे l

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close