Sunday 21 April 2024 7:49 PM
Samajhitexpressआर्टिकलजयपुरराजस्थान

“जन साहित्य सम्मान -2023”

“जन साहित्य सम्मान -2023”

साथियों!

जय भीम नमो बुद्धाय,

हर व्यक्ति अपने आप में एक हीरा होता है जो अपने कार्यों से परिवार,गांव, समाज, देश में अपनी चमक बिखेरता है। व्यक्ति आने वाली समस्याओं,परिस्थितियों से जूझते हुए, विभिन्न तानों को सहते हुए, हर बाधाओं को पार करते हुए, संघर्षशील होकर आगे बढ़ता है जिसमें उनके चाहने वालों का सहयोग भी भरपूर होता है। कुछ अपनों के द्वारा ही उसे तराशा जाता है। जिससे वह कोहिनूर बन जाता है। ऐसा ही मेरे जीवन में हुआ।

साथियों !मैं सवाई माधोपुर की तहसील बौंली के उस छोटे से गांव झनूण में जन्मा जो शिक्षा, रोजगार,उन्नति के क्षेत्र में पिछड़ा था और अभी भी पिछड़ा हुआ है। मैंने उच्च माध्यमिक शिक्षा तक के काल में जातीय दंश भी झेला,उसका विरोध में आवाज भी उठाई और सफल भी रहा। जीवन में समस्याओं का दौर जारी रहा अब भी जारी है लेकिन इन सबके बावजूद “बाबा साहब विश्व रतन डॉक्टर अंबेडकर जी” बहुजन समाज के संतों, महापुरुषों के त्याग व बलिदान, परिवार, आप साथियों की बदौलत मैंने साहित्य के क्षेत्र में एक विशेष उपलब्धि हासिल की जिसे आपके सामने प्रदर्शित कर रहा हूं।

साहित्य पढ़ने का शौक मुझे बचपन से रहा और आज भी है।शौक-शौक में मैंने कविता लिखना शुरू किया जो एक कवि बनने तक ले गया। आपके सहयोग से ही आगे बढ़ा जीवन में मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी कि मुझे साहित्य के क्षेत्र में सम्मानित किया जाएगा लेकिन हुआ उसके विपरीत मुझे सम्मान मिला।

दिनांक 2 अप्रैल 2023 को “भारतीय जन लेखक संघ” के तत्वाधान में “गांधी शांति प्रतिष्ठान” नई दिल्ली में डॉ शांति यादव रचित खंडकाव्य “वैदेही का अंतर्द्वंद्व” की समीक्षात्मक संगोष्ठी एवं राष्ट्रीय कवि सम्मेलन के अवसर पर लगभग 200 साहित्यकारों की मौजूदगी में जन साहित्य के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान हेतु “जन साहित्य सम्मान -2023” (जीवन का पहला सम्मान)से सम्मानित किया गया। सम्मेलन का उद्घाटन डॉ. अनीता भारती (दिल्ली) दलित साहित्य की प्रतिनिधि हस्ताक्षर तथा मंच संचालन तान्या लांबा दिल्ली द्वारा किया गया।

मुख्य अतिथि -प्रोफेसर राजेश पाल जी  (उत्तराखंड) कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष जन लेखक संघ,जयप्रकाश जी फाकिर (दिल्ली) वरिष्ठ आलोचक

 विशिष्ट अतिथि- डॉ.महेंद्र नारायण पंकज (बिहार) राष्ट्रीय महासचिव जन लेखक संघ व जन आकांक्षा पत्रिका के संपादक।

विशिष्ट वक्ता- प्रो. केदार मंडल दिल्ली विश्वविद्यालय , प्रो. रमेश प्रजापति दिल्ली, पंकज चौधरी जी (दिल्ली) युवा कवि, डॉ. सनी सुवालका (राजस्थान), युवा लेखिका डॉ.अनुजा सुप्रिया (उत्तर प्रदेश), युवा लेखिका तेजस्वी तेजप्रताप दिल्ली विश्वविद्यालय विशिष्ट वक्तव्य – डॉक्टर शांति यादव प्रख्यात कवियत्री व लेखिका

स्वागताध्यक्ष – श्री बंशीधर जी नाहरवाल स्वागत सचिव सुमन कुमारी जी,

मौजूद साहित्यकार डॉ नरेश सागर जी बेखौफ शायर (उत्तर प्रदेश), राधेश्याम जी मेहरा लालसोट, नेपाल से प्राज्ञ खेम नेपाली पूर्व सांसद व कवि, राम बाबू जी ,शरद कुमार बौद्ध जी, पत्रकार राहुल नागपाल जी, पत्रकार सोनू अज़ीज़ जी, सरफराज हुसैन (उत्तर प्रदेश), पुष्पा विवेक जी,आर. सी. विवेक जी एवं अन्य राज्यों से पधारे हुए साहित्यकार।

✍️✍️✍️ कवि सुरेन्द्र आज़ाद’झनूण’

राज्य सचिव,जन लेखक संघ राजस्थान

03-04-2023

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close