Wednesday 19 June 2024 5:55 AM
Samajhitexpressछत्तीसगढ़जयपुरताजा खबरेंनई दिल्लीराजस्थान

उर्मिला सिदार ‘उर्मि’ को अध्यापन-अध्ययन व महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में विशेष योगदान हेतु सम्मानित किया जाएगा

दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगांवलिया) गोपाल किरण समाजसेवी संस्था, ग्वालियर के तत्वाधान में 28 अक्टूबर 2023 को एक दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय सेमिनार ब्रिलियंस अवार्ड सेरेमनी का भव्य समारोह बंगलुरु में आयोजित किया जायेगा l इस कार्यक्रम में मुख्य संरक्षक कैलाश चन्द मीणा (IFS), मुख्य अतिथि व वक्ता डॉ० बी.पी. अशोक (IPS), व सूर्यकांत शर्मा होंगे l इनकी गरिमामयी उपस्थिति में उर्मिला सिदार ‘उर्मि’ व्यख्याता (भूगोल), को अध्यापन व अध्ययन समसामयिक विषयों पर साहित्य की विभिन्न विधाओं में लेखन व महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में विशेष योगदान हेतु सम्मानित किया जाएगा ।

उर्मिला सिदार ‘उर्मि’ व्यख्याता (भूगोल) का जन्म 15 अक्टूबर 1964 को मिरौनी जाँजगीर चाँपा छत्तीसगढ़ में हुआ l इन्होने शिक्षा में स्नातकोत्तर, डी.ई.एड, मध्यस्थ दर्शन अध्ययन किया है । अध्यापन व अध्ययन समसामयिक विषयों पर साहित्य की विभिन्न विधाओं में लेखन रत l इनकी प्रकाशित कृतियाँ – भावनाओं की बगिया,  बाल कहानियां, सुन तो ले मोर गोठ (छत्तीसगढ़), शुद्ध पर्यावरण कैसे रखे, है और बचपन की यादें अप्रकाशित है ।

उर्मिला सिदार उर्मिका मानना है कि मेरा शिक्षक बनना मेरी उपलब्धि नहीं बल्कि मै कितने को शिक्षण के माध्यम से शिक्षक बनने मे सहयोग दे पाई यही मेरी उपलब्धि है ।

मैं एक अध्यापिका के साथ-साथ एक जैविक कृषिका भी हूँ अन्यों को जैविक कृषि करने में सहयोग दे पाना ही मेरी उपलब्धि है l मैं एक साहित्यकार लेखिका एवं कवित्री हूँ, लेख और कविता के माध्यम से मानव को जिंदगी जीने के लिए भावनाओं को पहुंचा पाना ही मेरी उपलब्धि है, और आप लोगों जैसे विद्वत जनों का सानिध्य और सहयोग पाना भी मेरी उपलब्धि है । इन्ही उपलब्धियो से मुझे भौतिक वस्तुओं की पूर्ति एवं सभी के साथ शिकायत मुक्त जिंदगी जीने से मन में संतुष्टि होती है, यही मेरी उपलब्धि है । कहानी, कविता, चुटकुला, जैनुला नीति वाक्य वर्तमान परिवेश की कविताएं सम-सामाजिक कविता अनेक विधाओं में लेखन शोध पत्र सामाजिक चिंतन, पर्यावरण चिंतन, बचपन के अनुभव, लेखन आदि एवं लेखन कार्य तथा सामाजिक कार्य हेतु अवार्ड मिलना और दूसरो को भी उपलब्ध कराने मे सहयोगी हो पाना यह मेरी जीवन की उपलब्धियां है ।

सामाजिक कार्य – शिक्षण कार्य महिला स्व सहायता समूह को स्वालंबन हेतु प्रशिक्षण कार्य, जैविक किचन गार्डन एवं नर्सरी का प्रशिक्षण कार्य ।

कार्यशाला – घर से निकले अपशिष्ट पदार्थों को  उपयोगी बनाना घरेलू एवं जरूरत मंद लोगों की पूर्ति करने हेतु वस्तु बनाने का  कार्यशाला चलाना l

प्रशिक्षण – ऑर्गेनिक कृषक एवं कृषिकाओं को प्रशिक्षण देना, स्वालंबन हेतु महिलाओं को घरेलू उत्पाद से विभिन्न प्रकार की खाद्य वस्तु बनाने का प्रशिक्षण, मशरुम उगाने का प्रशिक्षण देना ।

भागीदारी – पांच आयाम में भागीदारी 1. शिक्षा संस्कार योजना में भागीदारी के अंतर्गत चेतना विकास मूल्य शिक्षा का ज्ञान देना, 2. स्वास्थ्य संयम हेतु योग एवं श्रम तथा संयम संबंधी जानकारी देना 3. उत्पादन संबंधी जैविक उत्पादन करना एवं उत्पादित वस्तु से योगी वस्तु का निर्माण करना 4. विनिमय के अंतर्गत अपने ही मित्र एवं परिवार में वस्तु- वस्तु का विनिमय कर अपने परिवारों की आवश्यकताओं की पूर्ति करना 5. अतिरिक्त वस्तु को जरूरतमंद लोगों में विनिमय कर आए का स्रोत बनाना,

आयोजन- प्रति माह गोष्ठी का आयोजन , परिवार मूलक ग्राम स्वराज व्यवस्था का आयोजन पाक्षिक वस्तु विनिमय का आयोजन मे भागीदारी करना।

रिसर्च पेपर- मध्यस्थ दर्शन की रोशनी में वर्तमान शिक्षा

सम्मान व पुरस्कार : शिक्षा क्षेत्र में- उत्कृष्ट शिक्षक सम्मान, आनलाइन शिक्षण सम्मान, जैविक उत्पादन क्षेत्र मे-उत्कृष्ट जैविक कृषिका सम्मान, गौ आधारित पोषक तत्व एवं कीट नियंत्रक उत्कृष्ट कृषिका, प्रभाकर केलकर जैविक पुरस्कार व अनेक सस्तिपत्र, साहित्यिक क्षेत्र मे-महिला शसक्तिकरण सम्मान, महादेवी वर्मा पुरस्कार,मातृका काव्य मंजुसा सम्मान, मातृका लेखिका सस्मान, विंध्याचल गौरव सम्मान, काव्य गौरव सम्मान, दीनदयाल उपाध्याय स्मृति सम्मान, सैनिक शहीद शोर्य, कवि सौरव सम्मान, राखी स्मृति सम्मान, कारगिल विजय स्मृति सम्मान, जनसंख्या स्मृति सम्मान, हिंदी साहित्य रत्न सम्मान, श्रेष्ठ सृजन सम्मान, साहित्य प्रभाकर सम्मान, उत्तम श्रृजन सम्मान , हिंदी साहित्य कलम सम्मान, बाबा खाटू श्याम साहित्य, रचनाकार सम्मान, श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान, कवि सौरभ सम्मान,  स्वतंत्रता स्मृति सम्मान, मीन साहित्य धरोहर सम्मान, सर्वश्रेष्ठ उत्कृष्ट सम्मान, पर्यावरण सखा सम्मान, रक्तदान सम्मान,  मातृका विवेक सम्मान आदि एवं अनेक प्रशस्ति पत्र इत्यादि ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close