Thursday 18 July 2024 7:20 PM
Samajhitexpressगुजरातचंडीगढ़छत्तीसगढ़जयपुरताजा खबरेंदेशनई दिल्लीपंजाबमध्य प्रदेशमहाराष्ट्रराजस्थान

राष्ट्रीय रैगर महासम्मेलन में समाज के लोगो ने एकता और समानता की भावना का परिचय देकर अनुठी मिसाल पेश की

दिल्ली, समाजहित एक्सप्रेस (रघुबीर सिंह गाड़ेगांवलिया) l  अखिल भारतीय रैगर महासभा के तत्वाधान मे आयोजित सातवां राष्ट्रीय रैगर महासम्मेलन रविवार को जयपुर में सम्पन्न हो गया l महासम्मेलन के मंच पर मुख्य अतिथि अशोक गहलोत मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार विशिष्ट अतिथि मंत्रीगण एवं विधायक गण आदि शामिल हुए l  बारिश की असामान्य स्थिति में भी राष्ट्रीय अध्यक्ष एस. के. मोहनपुरिया के प्रस्तावों/नीतियों को सुनने के लिए लोगों में जज्बा और प्यार देखा गया l रैगर समाज के लोगो का राष्ट्रीय रैगर सम्मेलन के प्रति जो उत्साह दिखा, वह अभूतपूर्व था l

अखिल भारतीय रेगर महासभा के तत्वाधान में 7वा राष्ट्रीय रैगर महासम्मेलन में मुख्य अतिथि अशोक गहलोत मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार, मंच पर विशिष्ट अतिथि कृषि मंत्री श्री लालचंद कटारिया जी, खाद्यमंत्री श्री प्रतापसिंह जी खाचरियावास-सिविल लाइंस जयपुर, देवस्थान मंत्री श्रीमती शकुंतला रावत जी, श्री उपमुख्य सचेतक श्री मान महेंद्र चौधरी जी, बगरू विधायक श्रीमती गंगा देवी रैगर व मंत्रीगण एवं विधायक गण आदि शामिल हुए l इस समारोह की अध्यक्षता राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ० एस. के. मोहनपुरिया ने की l

अखिल भारतीय रैगर महासम्मेलन में सीएम अशोक गहलोत के पहुंचने पर भव्य स्वागत किया गया । जहां उनका साफा पहनाकर स्वागत किया गया । मुख्य अतिथि सीएम अशोक गहलोत ने दीप प्रज्ज्वलित कर रैगर सम्मेलन का शुभारंभ किया ।

सातवें राष्ट्रीय रैगर महासम्मेलन को संबोधित करते कहा कि रैगर समाज का लोकतांत्रिक संस्थाओं में उचित प्रतिनिधित्व सुनिश्चित किया जाएगा । गहलोत ने कहा कि इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी ने राष्ट्रीय रैगर महासम्मेलन में भाग लिया था जहां उन्होंने समाज के हित में विभिन्न योजनाओं की घोषणा की थी । मुख्यमंत्री ने कहा कि रैगर समाज एक मेहनतकश समाज है । राज्य सरकार समाज के हितों की रक्षा करने के लिए संकल्पित होकर कार्य कर रही है ।

उन्होंने कहा कि इसी क्रम में समाज के बालकों के लिए जयपुर में छात्रावास तथा रामदेवरा में धर्मशाला का निर्माण कार्य पूर्व कार्यकाल में किया गया । उन्होंने रैगर समाज की बालिकाओं हेतु जयपुर में छात्रावास बनाने की घोषणा की । उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बगरू क्षेत्र में पेयजल की समस्या को दूर करने के लिए निरंतर कार्य किया जा रहा है ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार की संविधान में अटूट आस्था है । वर्तमान में देश में निर्मित वातावरण असंवैधानिक सोच को बढ़ावा देने वाला है। संविधान के नीति-निदेशक तत्वों के अनुसार सरकार को राजनीतिक, सामाजिक एवं आर्थिक न्याय सुनिश्चित करना चाहिए एवं सामाजिक असमानता का उन्मूलन करना चाहिए । राज्य सरकार संविधान प्रदत्त आरक्षण की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध है । पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी ने संविधान संशोधन के माध्यम से स्थानीय व ग्रामीण निकायों में एससी-एसटी का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित किया था ।

प्रदेश सरकार ने राजकीय सेवाओं में पदोन्नति में आरक्षण को बरकरार रखा है ताकि एससी-एसटी वर्ग के कर्मचारी लाभान्वित हो सकें । इसके साथ ही डॉ० भीमराव अम्बेड़कर दलित, आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के माध्यम से दलित उद्यमियों को आर्थिक रूप से संबल देने का कार्य सरकार द्वारा किया जा रहा है ।

अखिल भारतीय रैगर महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ.एस.के. मोहनपुरिया ने बताया कि कार्यक्रम में मुख्यमंत्री गहलोत के मुख्य आतिथ्य में कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया l इस दौरान मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि आप लोग कुछ मांगते ही नहीं हो, ऐसे में समाज की ओर से मुख्यमंत्री को कई मांगो का ज्ञापन दिया गया जिसमे से राजधानी जयपुर में महिला हॉस्टल बनाने की मांग को तो सीएम ने स्वीकार कर लिया l प्रदेश में चर्म बोर्ड बनाने का आश्वासन दिया, तो वहीं राजनीति  में समाज को प्रतिनिधित्व देने का प्रयास करेंगे l कार्यक्रम में समाज बंधुओं की बडी संख्या देख मुख्यमंत्री गदगद हो गए l मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्यक्रम में इतनी बडी संख्या में समाज के लोगों इकटठा होना पहली बार देखा है l

यूपीएससी में चयनित सभी 5 युवाओ के प्रशिक्षणरत होने के कारण सम्मेलन में उपस्थित नहीं हो सके इसलिए उनके परिजनों को सम्मान सिरोपा व स्मृति चिन्ह् प्रदान किये गए तथा लान बाल्स प्रतियोगिता में “स्वर्ण पदक विजेता पिंकी कांसोटिया” के नहीं पहुंच सकने पर उनके परिजन को सम्मान सिरोपा स्मृति चिन्ह् प्रदान किया गया l कवि आदित्य मौर्य, कवियत्री चंद्रकांता चंद्रेश, और समाज के प्रमुख मीडिया कर्मी, प्रमुख वरिष्ठ पत्रकार और सहयोगियों व डा.नवरत्न गुसांईवाल को भी राष्ट्रीय रैगर महासम्मेलन 2022 के मंच पर सम्मानित किया गया l

दिल्ली से जयपुर पहुंच कर समाजसेवी अखिल भारतीय रेगर महासभा के पूर्व महासचिव चतर सिंह रछौया महासम्मेलन में दूरदराज से आए रैगर समाज बंधुओं का महासम्मेलन के मुख्य स्वागत द्वार पर रैगर वीरों की टीम के साथ खड़े होकर अपने हाथों से रैगर समाज बंधुओं को डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जी की फोटो पोस्टर और रैगर का बेटा छपी टी-शर्ट वितरण किए l जयपुर के इस महासम्मेलन में चतर सिंह रछौया ही केवल आकर्षण का केंद्र रहे l

रविवार सुबह 10 बजे से दिल्ली, गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, पंजाब, हरियाणा सहित देशभर से समाज के प्रबुद्धजनों के ग्रुप्स का सम्मेलन स्थल की ओर फूल बरसाते हुए ढोल नगाडो के साथ पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया और देखते ही देखते ग्राउंड खचाखच भर गया, समाज के लोगो ने एकता, गरिमा और समानता की भावना का परिचय देकर एक अनुठी मिसाल पेश की l  इस अनुठी मिसाल ने सभी राजनैतिक पार्टियों के नेताओ को बेहद प्रभावित किया, सामाजिक और राजनैतिक नेता इस बदलाव को गौर से देख रहे थे । सामाजिक लोकतंत्र में व्यक्तिगत स्वतन्त्रता और आलोचकों का होना अति आवश्यक है, यह हमारी संस्कृति और विकास का हिस्सा है ।

इस रैगर महासम्मेलन को समाजहित एक्सप्रेस की टीम के डॉ० नवरत्न गुसाईंवाल, खुशहाल चन्द बड़ोलिया, रामलाल चौमिया रैगर, गिरिराज शेर रैगर आदि ने खबर को कवरेज किया l

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close